Manish Mundra News | दृश्यम फिल्म्स के 7 साल हुए पूरे, मनीष मुंद्रा डायरेक्टोरियल डेब्यू करने के लिए हैं पूरी तरह तैयार

मुंबई: दृश्यम फिल्म्स (Drishyam Films) जिसने ‘मसान’, ‘न्यूटन’ जैसे  कई दमदार फिल्में सिल्वर स्क्रीन पर लाई हैं, आज इंडियन फिल्म इंडस्ट्री में उन्होंने पूरे सात साल पूरे कर लिए हैं। इस अवसर पर, दृश्यम फिल्म्स के फाउंडर  मनीष मुंद्रा भी बैनर तले अपने  निर्देशन पारी की शुरुआत करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं , जिसकी डिटेल्स जल्द ही अनाउंस की जाएगी। दृश्यम फिल्म्स ऐसी फिल्में बनाने के लिए जाना जाता है  जो समृद्ध कहानियों को बताने में विश्वास रखता है  और भारतीय सिनेमा को वैश्विक मानचित्र पर लाने में सहायक रहा  है ।

‘आंखों देखी’ को फाइनेंस करने के बाद कॉरपोरेट लीडर से फिल्म निर्माता बने, जिन्होंने मसान (2015), उमरिका (2015), वेटिंग (2015), धनक (2016)न्यूटन (2017), रुख (2017), कड़वी  हवा (2017), कामयाब (2020), राम प्रसाद की तहरवी (2021), और लव हॉस्टल (2022)  जैसी अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्मों का निर्माण किया।।

प्रतिभाशाली  निर्माता क्रिएटिव होने के साथ साथ कविताएं लिखना बखूबी जानते हैं  इतना ही नहीं उन्होंने  दो किताबें भी  लिखी  हैं, अब दृश्यम की आगामी परियोजना के साथ निर्देशक के क्षेत्र में कदम रख रहे हैं , ऐसा मानना ही कि यह  ग्रामीण भारत में स्थापित सच्ची घटनाओं पर आधारित होगा।

यह भी पढ़ें

निर्माता और अब निर्देशक मनीष मुंद्रा कहते हैं, “एक निर्माता और फिल्ममेकर  के रूप में मैं ऐसी फिल्में बनाने की इच्छा रखता हूँ  जो समाज पर इमपैक्ट डाले और  एक ऐसी फिल्म जिसे दर्शक लंबे समय तक संजो के रखें । मैं ऐसी फिल्में बनाना चाहता हूं जो सही उम्र , पाथ ब्रेकिंग और कंटेंट से प्रेरित हों।मेरी आगामी परियोजना    उन आदर्शों को दर्शाती है और मैं जल्द ही इसकी आधिकारिक घोषणा करने के लिए बेहद उत्साहित हूं।” वे आगे कहते हैं , ” मेरे लिए यह बहुत ही स्पेशल मोमेंट है क्योंकि दृश्यम ने 7 साल पूरे कर लिए हैं और एक बैनर के रूप में हमारा सबसे बड़ा उद्देश्य रिवेटिंग सिनेमा बनाना है और हम संरचित, टिकाऊ और आर्थिक रूप से मजबूत तरीके का फिल्म बनाना हैं।”

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles