नए संसद भवन का निर्माण करेगा टाटा समूह

0
554

टाटा समूह को नए संसद भवन, सेंट्रल विस्टा के निर्माण का ठेका दिया गया है। नए संसद भवन के निर्माण पर 861.90 करोड़ रुपये खर्च होंगे। टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने नए संसद भवन के निर्माण के लिए 861.90 करोड़ रुपये का ठेका जीता है।                                                                                                 

टाटा समूह के साथ, रेस मैं लार्सन एंड टुब्रो और शापुरजी पालनजी जैसे दिग्गज भी इस प्रक्रिया में शामिल थे। इन कंपनियों को पाछते हुए, टाटा समूह के टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने ठेका जीत लिया है। इससे पहले, सात कंपनियां संसद भवन के लिए ठेका जीतने की दौड़ में थीं। ऑनलाइन प्रक्रिया से केंद्रीय लोक निर्माण विभाग द्वारा तीन कंपनियों का चयन किया गया था। नया संसद भवन संसद भवन के प्लॉट नंबर 118 पर स्थित होगा। भवन का निर्माण सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत किया जाएगा।

प्रस्तावित नए संसद भवन का कुल क्षेत्रफल 65,000 वर्ग मीटर है। इसमें कुल 16 हजार 921 वर्ग मीटर का बेसमेंट भी शामिल है। नए संसद भवन में दो मंजिलें होंगी। यह भारत के 75 वें स्वतंत्रता दिवस, 2022 में भी पूरा होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, संसद के मानसून सत्र के बाद नए संसद भवन का निर्माण शुरू होगा।

वर्तमान संसद भवन ब्रिटिश काल का है और गोलाकार है। नया भवन त्रिकोणीय होगा। इससे पहले, सरकार ने कहा था कि नए संसद भवन के निर्माण में 940 करोड़ रुपये खर्च होने की उम्मीद थी। हालांकि, टाटा ग्रुप ने 861.90 करोड़ रुपये और लार्सन एंड टुब्रो ने 865 करोड़ रुपये का टेंडर किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here