Home Naukari Shruti Sharma UPSC Topper | UPSC टॉपर श्रुति शर्मा ने बताया सफलता...

Shruti Sharma UPSC Topper | UPSC टॉपर श्रुति शर्मा ने बताया सफलता का राज, माँ ने कही ये बड़ी बात

0
33

नई दिल्ली: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने सोमवार को सिविल सेवा परीक्षा-2021 के परिणाम घोषित किए है। जिसमें श्रुति शर्मा (Shruti Sharma) ने पहली रैंक हासिल की है, जबकि अंकिता अग्रवाल और गामिनी सिंगला ने क्रमश: दूसरा और तीसरा स्थान रही है।  UPSC परीक्षा 2021 में प्रथम स्थान लाने पर श्रुति शर्मा ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात की। 

उन्होंने कहा, मैं अपने परिणाम से बहुत खुश हूं। मेरी रणनीति अखबारों से अपने नोट्स बनाने और बेहतर प्रस्तुति के लिए उत्तर लेखन अभ्यास पर ध्यान केंद्रित करने की थी। मैंने सोशल मीडिया का संतुलित तरीके से इस्तेमाल किया है। मेरी पहली प्राथमिकता यूपी कैडर है। मेरे पापा स्कूल में पढ़ाते हैं इसलिए शिक्षा के क्षेत्र में काम करना चाहती हूं। मेरी नानी भी मेरी मां को UPSC करवाना चाहती थीं लेकिन उस समय वैसी स्थिति नहीं थी इसलिए चीज़ें नहीं हो सकी। 

श्रुति शर्मा की मां रुचि शर्मा ने कहा कि, ‘मैं बहुत खुश हूं क्योंकि वह खुश है। यह सब उसके प्रयासों के कारण है। उसे केवल पढ़ाई में दिलचस्पी थी, दरअसल, हमें उसे सोने के लिए कहना था। उसने सीमित तरीके से सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया।’

जामिया कोचिंग अकादमी से 23 लोगों का चयन 

बता दें कि, जामिया आवासीय कोचिंग अकादमी से 23 उम्मीदवारों का चयन किया गया है, जहाँ से श्रुति ने अपनी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी भी की। जामिया मिलिया इस्लामिया की वीसी नजमा अख्तर ने एएनआई को बताया कि, जामिया कोचिंग अकादमी से 23 लोगों का चयन किया गया है। हम बहुत गर्व महसूस कर रहे हैं और उन्हें बधाई देने आए हैं। 

यह भी पढ़ें

गौरतलब है कि, 10 अक्टूबर, 2021 को, UPSC CSE प्रारंभिक परीक्षा आयोजित की गई थी, जिसके परिणाम 29 अक्टूबर, 2021 को घोषित किए गए थे। जिसके बाद 7 से 16 जनवरी, 2022 के बीच मुख्य परीक्षा आयोजित की गई थी और परिणाम 17 मार्च को घोषित किए गए थे। वहीं, साक्षात्कार का दौर 5 अप्रैल से 26 मई, 2022 तक आयोजित किया गया था। 

 685 उम्मीदवारों ने परीक्षा उत्तीर्ण की यूपीएससी 

यूपीएससी के अनुसार, 685 उम्मीदवारों ने परीक्षा उत्तीर्ण की है। 685 उम्मीदवारों में से 244 उम्मीदवार सामान्य वर्ग से, 203 अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) से, 73 आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से, 105 अनुसूचित जाति (एससी) और 60 अनुसूचित जनजाति (एसटी) से हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here