Monsoon Health Care | इस सीजन में गलती से भी नहीं करें इन सब्जियों का सेवन, नहीं तो हो जाएंगे बीमार

File Photo

 सीमा कुमारी

बारिश के मौसम में सेहत की ख़ास देखभाल की जरूरत होती हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें, तो इस मौसम में जीवाणु और विष्णु बड़ी तेजी से फैलता हैं और सब्जियों को दूषित करते हैं। इनमें कई ऐसी सब्जियां हैं, जिनका सेवन करने से आप बीमार हो सकते हैं। अगर आपको इन सब्जियों के बारे में नहीं पता है, तो आइए जानें-

जानकारों के अनुसार, बरसात के दिनों में शिमला मिर्च और बैंगन के अलावा फूलगोभी से भी परहेज करें। क्योंकि इस मौसम में फूलगोभी में कीड़े होने लगते हैं। फूलगोभी में ग्लूकोसाइनोलेट्स पाया जाता है, जो मानसून में सेहत के लिए सही नहीं होता है। इससे उल्टी, दस्त और पेट संबंधी परेशानी होती है। इसके अलावा, हरी पत्तेदार सब्जियों के सेवन करने से भी दूरी बनाएं। इस मौसम में मशरूम खाना भी इंफेक्शन के खतरे को बढ़ाता है। बरसात में मशरूम से दूरी बनाए रखें।

यह भी पढ़ें

बैंगन में अल्कलॉइड पाया जाता है। अल्कलॉइड से त्वचा संबंधी परेशानी बढ़ सकती है। इससे शरीर में खुजली, पित्ती, चकत्ते, एलर्जी आदि की समस्या हो सकती है। साथ ही मानसून सीजन में बैंगन में एसिडिक लेवल भी बढ़ जाता है। इससे सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इसके अलावा, बरसात के दिनों में बैंगन में कीड़े भी पड़ने लगते हैं। इसके लिए मानसून सीजन में भूलकर बैंगन का सेवन न करें।

शिमला मिर्च में प्रचुर मात्रा में विटामिन C, K, A, फाइबर, मैग्नीशियम और थर्मोजेनेसिस, एंटी ऑक्सिडेंट जैसे आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। हालांकि, बरसात के दिनों में शिमला मिर्च में पाए जाने वाले ग्लूकोसाइनोलेट्स को चबाने से यह आइसोथियोसाइनेट्स में तब्दील हो जाता है। इससे सेहत पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। ऐसी स्थिति में उल्टी, दस्त और सांस संबंधी परेशानी हो सकती है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

Gandhi Talks Teaser | विजय सेतुपति-अरविंद स्वामी स्टारर ‘गांधी टॉक्स’ का हुआ ऐलान, मेकर्स ने जारी किया दमदार टीजर

https://www.youtube.com/watch?v=CIY1jiX2LMA मुंबई: विजय सेतुपति (Vijay Sethupathi), अरविंद स्वामी (Arvind Swamy), अदिति राव हैदरी (Aditi Rao Hydari) स्टारर फिल्म 'गांधी टॉक्स' (Gandhi Talks) पिछले काफी समय...