Bread Disadvantage | बाज़ार का ब्रेड खाने से होने वाली मुश्किलों को जान लें, इलाज से परहेज़ अच्छा, जानिए क्यों

File Photo

-सीमा कुमारी

आज ‘ब्रेड’ (Bread) समूची दुनिया में एक पॉपुलर फूड बन गई है। क्योंकि, ब्रेड, एक ऐसी चीज है, जिसे खाकर ही ज्यादातर घरों में लोग अपने दिन की शुरुआत करते हैं। कोई ब्रेड खाकर स्कूल जाता है, तो कोई ऑफिस। यह भले ही खाने का आसान ऑप्शन है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ब्रेड कितना सेहत को नुकसान पहुंचा सकती है? आइए जानें इस बारे में-

एक्सपर्ट्स के अनुसार, कई बार ऐसा होता है कि भूख लगने पर हम ब्रेड खा लेते हैं। इससे पेट तो भर जाता है लेकिन पोषण के नाम पर शरीर को कुछ भी नहीं मिलता। अगर आपका बच्चा भूख लगने पर हर रोज ब्रेड ही खाता है तो वो कुपोषण का शिकार हो सकता है।

ब्रेड कार्ब्स (carbohydrates) से भरपूर होती है, लेकिन यह उन लोगों के लिए फायदेमंद नहीं है, जो हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज़ से जूझ रहे हों। ऐसा इसलिए क्योंकि कार्बोहाइड्रेट्स ब्लड शुगर को बढ़ाने का काम करते हैं।

यह भी पढ़ें

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, ब्रेड चाहे आटे से बनी हो या मैदे से इसमें ग्लूटन की उच्च मात्रा होती है। ग्लूटन एक ऐसा प्रोटीन है, जो ब्रेड के टेक्सचर में मदद करता है। कई लोगों को इससे एलर्जी होती है, क्योंकि ग्लूटन को पचाना आसान नहीं होता, जिससे पेट फूलना, दस्त और पेट दर्द जैसी दिक्कतें शुरू हो सकती हैं।

ब्रेड के लसलसेपन के कारण वो आसानी से पचता नहीं हैं। इसे रोजाना खाने से पाचन संबंधी कई बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता हैं। ये समस्या बड़े और बच्चों दोनों को समान रूप से हो सकती है।  

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

Gandhi Talks Teaser | विजय सेतुपति-अरविंद स्वामी स्टारर ‘गांधी टॉक्स’ का हुआ ऐलान, मेकर्स ने जारी किया दमदार टीजर

https://www.youtube.com/watch?v=CIY1jiX2LMA मुंबई: विजय सेतुपति (Vijay Sethupathi), अरविंद स्वामी (Arvind Swamy), अदिति राव हैदरी (Aditi Rao Hydari) स्टारर फिल्म 'गांधी टॉक्स' (Gandhi Talks) पिछले काफी समय...