गोल्ड ने बनाया नया रिकॉर्ड: सोना 50,000 रुपये के नए उच्च स्तर पर पहुंच गया,

0
90
गोल्ड ने बनाया नया रिकॉर्ड

सोना कोरोना महामारी के दौरान चरम पर है। बुधवार को सोना 50,021 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार कर रहा था। दूसरी ओर, मल्टी-कमोडिटी एक्सचेंज में सितंबर में डिलीवरी के लिए चांदी भी सात साल के उच्च स्तर पर पहुंच गई। चांदी भी 60,782 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई।

यूरोपीय संघ के नेताओं ने कोरोना के कारण होने वाले आर्थिक संकट को दूर करने के लिए 750 बिलियन यूरो के प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की है। अमेरिका एक ट्रिलियन डॉलर के पैकेज पर भी काम कर रहा है।

सोना 30% बढ़ा

इस साल मार्च में सोना 38,500 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया था। इस गणना से सोने की कीमत एमसीएक्स पर 30 फीसदी उछल गई है। दूसरी ओर, मार्च में चांदी 81 प्रतिशत गिरकर 33,580 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। इससे पहले 2011 में चांदी 73,600 रुपये प्रति किलोग्राम को छू गई थी।                           

1965 की तुलना में अब तक सोने के दाम 746 गुना बढ़ चुके हैं

भारत में सोने की कीमतें अब 1965 की तुलना में 746 गुना अधिक हैं। कोरोना संक्रमण के बाद से दुनिया भर में सोने की मांग बढ़ी है।अब से तीन से पांच साल के लिए सोने में निवेश करने वालों के लिए एक अच्छा मौका है।

कीमत 80,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक जा सकती है

कोरोना संक्रमण, जो दुनिया भर में फैला है, प्रतीत होता है कि शेयर बाजारों और बांडों की कमी है। मौजूदा स्थिति को देखते हुए निवेशक तेजी से सोने की ओर रुख कर रहे हैं। इससे सोने की कीमतों में तेजी आ रही है। इस बीच, बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज (बोफा सेक) के विश्लेषकों का अनुमान है कि 2021 के अंत तक अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत प्रति औंस 3,000 3000 तक पहुंच सकती है। भारतीय रुपये में 000 3000 परिवर्तित करने से 2,28,855 रुपये बनता है।

India Samachar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here