तूफान ‘अम्फान’ से लोगों को बचाते हुए एक की मौत

amphan-cyclone

ढाका: चक्रवात अम्फान से लोगों को बचाने के लिए गए एक स्वयंसेवक की मौत हो गई। तूफान एमफैन में यह पहली मौत है। बांग्लादेश रेड क्रॉस क्रिसेंट का एक स्वयंसेवक एक क्षेत्र में फंसे नागरिकों को बचाने के लिए एक नाव से गया था। उसी समय, उनकी नाव चक्रवात अम्फान में डूब गई और उनकी दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु हो गई।

तूफान अम्फान बड़ी तीव्रता का है। इस तरह का तूफान कई सालों के बाद आया है। बांग्लादेश के तट पर बुधवार दोपहर को तूफान आया। फंसे हुए स्थानीय लोगों को सुरक्षा में ले जाने के लिए एक नाव पर चार लोग थे। नाव डूबने से एक स्वयंसेवक की मृत्यु हो गई, यह जानकारी तूफान प्रबंधन समिति के निदेशक डॉ. नुरुल इस्लाम ने दी ।

तूफान Amphan निचले इलाकों के लिए एक बड़ा खतरा है। बांग्लादेश में लगभग तीन करोड़ लोग ऐसे निचले इलाकों में रहते हैं। तूफान से गंभीर नुकसान की आशंका है।

इस बीच, भारत ने अब तक पश्चिम बंगाल से 5 लाख और ओडिशा से लगभग 1 लाख 58 हजार 640 लोगों को चक्रवात अम्फान की वजह से जानमाल के नुकसान सेबचने के लिए लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया गया । यह प्रतिक्रिया दस्ते के प्रमुख (NDRF) एस. एन प्रधान द्वारा दी गयी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here