एक और सबसे सस्ती कोरोना दवा: एक गोली की कीमत होगी 27 रुपये

0
280

हैदराबाद की एक और कंपनी कोविद -19 की दवा लॉन्च कर रही है। ली-फ़ार्मा फाराविर नाम से एंटीवायरल दवा फ़ेविपिरवीर लॉन्च करेगी। यह 200 मिलीग्राम की गोलियों में उपलब्ध होगा। एक गोली की कीमत 27 रुपये होगी। अगर कीमत में बदलाव नहीं होता है, तो यह कोविद -19 में अब तक का सबसे सस्ता टैबलेट साबित होगी । यह एमएसएन समूह की दवा फेविलो ’को चुनौती देगा जो अब तक की सबसे सस्ती दवा है इस टैबलेट की कीमत 33 रुपये है।हैदराबाद स्थित जेनेरिक फार्मा कंपनी एमएसएन ग्रुप ने गुरुवार को कोरोना की सबसे सस्ती दवा ‘फेविलो’ लॉन्च की। इसमें फेविपिरवीर की एक खुराक भी शामिल है। 200 मिलीग्राम की एक गोली fevipiravir की कीमत रु 33 है । कंपनी के मुताबिक, फेवीपिरवीर का 400 मिलीग्राम का टैबलेट भी जल्द ही बाजार में उतारा जाएगा। एमएसएन समूह ने ओस्लो नाम के तहत कोरोना रोगियों के लिए एंटीवायरल दवा ओसेल्टामिविर को पहले ही लॉन्च कर दिया है। यह 75 मिलीग्राम की गोली है।

एक महीने में 60 लाख गोलियां बनाई जा सकती हैं
ली-फार्मा के निदेशक रघु मित्र एला के अनुसार, हमें इस दवा के निर्माण के लिए ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया से मंजूरी मिल गई है। वास्तव में, हम इजिफ्त और बांग्लादेश को पहिले से ही ये दवा दी है । फाराविर का निर्माण हमारे प्लांट में विशाखापत्तनम में किया गया है। हमारी दवा बनाने की क्षमता बहुत अधिक है। हम एक महीने में 60 लाख गोलियां बना सकते हैं।

सस्ती दवा उपलब्ध कराने का लक्ष्य                                                                                          रघु मित्रा के अनुसार, टैबलेट को अगले महीने लॉन्च किया जा सकता है। हम देश के कोने-कोने तक पहुंचने की कोशिश करेंगे। सस्ती दरों पर दवा उपलब्ध कराने के लिए एक टैबलेट की कीमत 27 रुपये रखी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here