महाराष्ट्र में कोरोना LIVE: लॉकडाउन 2.0 के मुहाने पर खड़े महाराष्ट्र में 47,827 नए मरीज मिले, इससे ज्यादा नए मरीज सिर्फ अमेरिका और ब्राजील में

0
83


Hindi NewsLocalMaharashtraLockdown: Mumbai Pune (Maharashtra) Coronavirus Cases Update | Maharashtra COVID Cases District Wise Latest News; Mumbai Pune Thane Nashik AurangabadAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपमुंबई13 मिनट पहलेकॉपी लिंकमहाराष्ट्र में कोरोनावायरस की बढ़ती संख्या हर दिन नया रिकॉर्ड बना रही है। पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में अब तक सबसे ज्यादा 47,827 पॉजिटिव मरीज मिले। भारत को छोड़ दिया जाए तो इससे ज्यादा केस सिर्फ अमेरिका (69,986) और ब्राजील (69,662) में ही आए। इसी दौरान 202 लोगों की मौत भी हुई है। राज्य में कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 55,379 हो गई है। कुल मौतों के मामले में महाराष्ट्र दुनिया में 14वें स्थान पर पहुंच चुका है।इस बीच शुक्रवार रात को राज्य की जनता को संबोधित करते हुए CM ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र लॉकडाउन के मुहाने पर खड़ा है और 1-2 दिन में बड़ा फैसला संभव है।कुल मरीजों के मामले में महाराष्ट्र दुनिया में 10वें नंबर परराज्य में संक्रमित हुए मरीजों की कुल संख्या 29 लाख 4 हजार 76 हो गई है। इसी के साथ महाराष्ट्र दुनिया में कुल कोरोना मरीजों के मामले में 10वें नंबर पर पहुंच गया है। महाराष्ट्र से आगे अमेरिका, ब्राजील, फ्रांस, रूस और ब्रिटेन जैसे देश हैं।पुणे में आज से मिनी लॉकडाउनकोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए पुणे में आज से एक सप्ताह का मिनी लॉकडाउन लग रहा है। यहां शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगेगा। शॉपिंग मॉल, सिनेमा हॉल, रेस्टोरेंट, खाने की दुकानें आदि बंद रहेंगे। सिर्फ होम डिलीवरी को मंजूरी दी गई है। स्कूल कॉलेज को 30 अप्रैल के लिए बंद कर दिया गया है।प्रशासन, पुलिस, स्वास्थ्य और अन्य विभागों के शीर्ष अधिकारियों के साथ शुक्रवार सुबह उपमुख्यमंत्री अजित पवार की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया। अंतिम संस्कार में अधिकतम 20 लोग और शादियों में सिर्फ 50 लोग ही मौजूद रहने की अनुमति दी गई है।लॉकडाउन लगाने पर उद्धव ने कहीं ये 10 बड़ी बातेंमहाराष्ट्र में लॉकडाउन लगेगा या नहीं लगेगा, इस पर मैं अभी कुछ भी नहीं बोलूंगा। हालांकि, जो हालात इस समय है, ये अगर आगे भी जारी रहेंगे तो संभालना मुश्किल होगा।हम आज लॉकडाउन नहीं लगा रहे हैं, लेकिन कोविड-19 के मामलों की रोकथाम के लिए 1-2 दिन में कड़ी पाबंदी लगाई जाएंगी। इसको लेकर हम एक्सपर्ट्स से बात कर रहे हैं। अगर मौजूदा स्थिति बनी रही तो मैं लॉकडाउन लगाने की आशंका से इनकार नहीं सकता।हम RT-PCR टेस्ट अधिक से अधिक करना चाहते हैं। गुणवत्ता और पारदर्शिता से समझौता नहीं करना चाहते। हमने कोई मरीजों की संख्या नहीं छिपाई है।लोग कहते हैं कि वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाओ। देश में महाराष्ट्र ही ऐसा राज्य है जिसने एक दिन में 3 लाख तक वैक्सीनेशन का रिकॉर्ड बनाया। अब तक कोविड-19 टीके की 65 लाख खुराकें दी गई हैं। गुरुवार को तीन लाख डोज दिए गए। कुछ लोग टीकाकरण के बाद भी संक्रमित हो रहे हैं, क्योंकि वे मास्क नहीं पहन रहे।महाराष्ट्र में कोरोना महामारी की स्थिति डराने वाली है, लेकिन आपको सच बताएंगे। महाराष्ट्र में शादियों में ज्यादा भीड़ हो रही है। ऐसे में महामारी एक तरह से हमारी परीक्षा ले रही है। सबको मास्क लगाना और कोविड गाइडलाइंस का पालन करना चाहिएकोरोना महामारी के खिलाफ हम सभी को एकजुट होकर लड़ना है। लॉकडाउन लगााने से राज्य की आर्थिक स्थिति खराब होगी। ऐसे में कोरोना गाइडलाइंस का सख्ती से पालन ही महामारी के खिलाफ सबसे बड़ा हथियार है।मुझे मालूम है कि लॉकडाउन बेहद घातक उपाय है। अर्थव्यवस्था चलानी है तो लॉकडाउन लागू करना मुश्किल है, लेकिन गया हुआ रोजगार वापस आ जाएगा, जीवन वापस नहीं आएगा। लॉकडाउन हम टाल सकते हैं, लेकिन लॉकडाउन के बदले उपाय क्या है? मुझे सुझाव दीजिए।लोग कहते हैं कि स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाएं, हम तैयार हैं ना, सुविधाएं बढ़ा भी रहे हैं, लेकिन बेड्स की कमी है, ऑक्सीजन की कमी है, वेंटिलेटर्स की कमी है। इन सारी कमियों को पूरा किया जा सकता है, लेकिन डॉक्टरों की कमी कैसे पूरी करें? यह बड़ी चुनौती है।मुख्यमंत्री ने कहा कि वैक्सीन लेना कोविड नहीं होने की गारंटी नहीं है, इसलिए कोरोना नियमों का पालन जरूरी है। पहले हम 75 हजार टेस्टिंग कर रहे थे अब 1 लाख 82 हजार टेस्ट किए जा रहे हैं। इसे ढाई लाख तक ले जाना है। इनमें भी ज्यादा RT-PCR टेस्टिंग करेंगे। राज्य में 70% RT-PCR टेस्ट किए जा रहे हैं।सितंबर में प्रतिदिन 24 हजार नए संक्रमित केस सामने आ रहे थे। अब 43 हजार तक नए केस सामने आ रहे हैं। मुंबई में रोज 8,500 तक नए केस सामने आ रहे हैं। जनता की जान बचाने की जिम्मेदारी हमारी है। हम ये जिम्मेदारी समझते हैं।महाराष्ट्र में फिर से बंद हो सकते हैं मॉल और मंदिरमुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने संकेत दिए हैं कि शहर में मंदिर और मॉल फिर से बंद हो सकते हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य में सरकार कुछ नए और कठोर कदम उठा सकती है।महाराष्ट्र में अब बचा सिर्फ 8 दिन का खूनमहाराष्ट्र में अब सिर्फ 8 दिनों का स्टॉक ही ब्लड बैंक में बचा हुआ है। यह डराने वाला खुलासा राज्य के मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने किया है। उन्होंने युवाओं से ब्लड डोनेट करने अपील की है।महाराष्ट्र के मुख्य शहरों में कोरोनामुंबई: यहां शुक्रवार को कोरोना के 8,832 मामले आए। महामारी की शुरुआत होने के बाद से एक दिन में ये सबसे ज्यादा मामले हैं। इस दौरान 20 मरीजों की मौत भी हुई है, जो 2 दिसंबर 2020 के बाद सबसे अधिक संख्या है। मुंबई में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4 लाख 32 हजार 192 हो गई है, जबकि अब तक 11,724 लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटों में 5,352 मरीज ठीक हुए हैं। इसके साथ ही अब तक 3 लाख 61 हजार 043 लोग कोरोना को मात दे चुके हैं।नागपुर: जिले में शुक्रवार को कोरोना के 4,108 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2 लाख 33 हजार 776 हो गई। 60 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या यहां बढ़कर 5,218 हो गई। इनमें से नागपुर शहर में ही 3,310 लोगों ने जान गंवाई है। इस दौरान 3,214 मरीज ठीक हुए हैं। जिले में ठीक होने वाले मरीजों की कुल संख्या 1 लाख 87 हजार 751 हो गई है, जबकि 40,807 मरीजों का इलाज चल रहा है।पुणे: पिछले 24 घंटों में पुणे में 9,086 नए मरीज मिले, 3,337 मरीज ठीक। 58 की मौत भी हुई। नए संक्रमितों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। यहां अब तक 5 लाख 51 हजार से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। 10,097 लोगों ने जान गंवाई है।31 से 40 साल के बीच के लोग ज्यादा हुए संक्रमित महाराष्ट्र में 31 से 40 साल की उम्र वाले सबसे ज्यादा संक्रमित हुए हैं। डॉक्टर इसका कारण इस उम्र के लोगों का घर से ज्यादा बाहर निकालना मानते हैं। वहीं, सबसे कम सिर्फ 147 संक्रमित 101-110 साल के बीच का है।S/Nउम्रकुल मरीजकेस % में110 साल तक888273.14211-201,87,2876.63321-304,70,87116.66431-406,02,27921.31541-505,10,51318.06651-604,55,03516.10761-703,11,78011.03871-801,50,9725.34981-904,3,0921.521091-1005,4720.1911101-1101470.01कुल मरीज28,26,275100.00*यह आंकड़ा 28 लाख 26 हजार 275 मरीजों के एनालिसिस के आधार पर है।खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here